SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe -Laxmanmedia

Search engines  के लिए SEO Friendly Post Kaise Likhe In Hindi एक कौशल है, Knowledge और practice द्वारा इस कौशल में सुधार किया जा सकता है|

Article को SEO friendly बनाने के लिए आपको कुछ सरल कदमों का पालन करना है जैसे पोस्ट का title, ब्लॉग की structure, headings, keyword placement. जो सुनने में काफी सरल चीजें हैं, लेकिन फिर भी ranking में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

इस post में आपको ऐसे 4 steps के बारे में बताऊंगा, जिसे मैं follow करके अपने पोस्ट को SEO optimize करता हूँ.

SEO Friendly Post Kaise Likhe [4 Tips]

SEO-friendly content का मतलब है आप जिस बारे में पोस्ट लिख रहे हैं वह सर्च इंजन आसानी से समझ पाए और उसकी rank high करने में मदद करें.

इस topic पर के बारे में details में जानने से पहले मैं आपको दो बातें clear कर देना चाहता हूं.

  • एक SEO friendly पोस्ट भी एक user-friendly ब्लॉग पोस्ट है.
  • जो post SEO optimized है जरूरी नहीं कि उसमें quality content हो.

2011 के Panda algorithm update के बाद से, content नंबर एक ranking factor के रूप में है.

इसलिए आप सिर्फ search engine को बेवकूफ बनाकर रैंक नहीं कर सकते आपको अच्छे quality content भी लिखने होंगे. तो चलिए जानते हैं SEO friendly post kaise likhe?

1. Keyword Research

जब SEO की बात आती है, तो ब्लॉग पोस्ट के लिए keyword research सबसे आवश्यक कदम है. किस keyword पर ज्यादा traffic है, उसके related keywords और उनकी Search volume को पता लगाने के लिए.

बहुत सारे free और paid keyword research tools है जैसे, Keyword planner, Ubersuggest, Semrush, जिनके मदद से आप post के लिए एक बेहतरीन keyword ढूंढ सकते हैं.

यह आपको specific keywords के लिए search volume, keyword difficulty और top competitors का data show करेगा. साथ ही यहां आपको कुछ relevant keywords का सुझाव देगा जिसे आप post में use कर सकते हैं.


2. Search Intent को पहचानें

एक keyword select कर लेने के बाद search intent के बारे में पता करें. किस प्रकार का article उस keyword पर rank कर रहा है उसका विश्लेषण करें. इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि Google किस तरह के queries के लिए किस तरह का article बेहतर समझता है.

  • आपका competitor किस तरह का पोस्ट लिख रहा है
  • Users की जरूरतों को पूरा करने के लिए वे अपनी content को कैसे संरचित किया है.
  • उन पोस्ट का length कितना है.
  • Topic के बारे में कितना in-depth लिखा गया है.

Example: यदि आपका keyword है “Instagram account Kaise delete Karen” तो आपको यहां पर इंस्टाग्राम क्या है? यह कैसे काम करता है उसके बारे में लिखने की जरूरत नहीं है.

3. Post का structure बनाएँ

एक clear structure बनाकर अपने ब्लॉग पोस्ट को विभाजित करने से आपको लिखने में आसान होता है.

यह तब उपयोगी होता है जब आपके पास एक sitting में post समाप्त करने का समय नहीं होता है. एक बार structure हो जाने के बाद, तो आप अलग-अलग हिस्सों पर स्वतंत्र रूप से काम कर सकते हैं.

सामान्य तौर पर, एक ब्लॉग पोस्ट में introduction, body और conclusion होता है. Body को भी कई भागों में विभाजित किया जा सकता है.

4. On-Page SEO

एक पोस्ट को SEO friendly बनाने के लिए on page SEO की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण होती है. यदि आप WordPress user है तो Yoast SEO या RankMath plugin को इस्तेमाल करके on page को बेहतर बना सकते हैं.

a) Title and Meta Title

आपके पोस्ट का title पाठक के लिए महत्वपूर्ण है, आप पोस्ट में किस विषय के बारे में बात कर रहे हैं और यह search rankings के लिए भी अत्यंत महत्वपूर्ण है.

Title: पाठक आपकी वेबसाइट पर पोस्ट का title कैसे दिखता है.
Meta Title: Search engines में आपका पोस्ट को कैसे दिखता हैं.

Website visitors और search engine पर अलग title के लिए Yoast SEO plugin का उपयोग करें.

अपने ब्लॉग पोस्ट title को SEO friendly बनाने के लिए title और meta title के अंदर अपने focus keyword का उपयोग करें. साथ ही title को आकर्षक और क्लिक-योग्य बनाएं, क्योंकि CTR ranking में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

b) Meta Description

Meta description एक पोस्ट के बारे में संक्षिप्त विवरण देता है, जो search results में title के नीचे दिखाई देती है. इसमें खोजकर्ता की query में उपयोग किए गए शब्द bold में दिखाए गए हैं.

                     blogger Post meta description

हालांकि Search engines स्वचालित रूप से आपके लिए एक meta description बना देगा, लेकिन आप इसे customize करके पाठकों के लिए अधिक आकर्षक बना सकते हैं.

प्रत्येक WordPress SEO plugin आपके पोस्ट में meta descriptions जोड़ने की अनुमति देता है. कई बार आपके post के पहले दो line को default meta descriptions के रूप में show करता है.

आप यह भी सुनिश्चित करें कि आप meta description में focus keyword का उपयोग करें.

c) Permalink

पोस्ट के permalink या URL को SEO optimize करने के लिए आप इन बातों का ध्यान रखें.

  • Permalink में Main Keyword का इस्तेमाल करें.
  • Stop words जैसे “is, are, a, the, an, to” को Remove करें.
  • Permalink में हमेशा English language का ही इस्तेमाल करें.
  • एक बार post को Publish करने के बाद permalink को कभी change ना करें.

Best Format: https://laxmanmedia.site/permalink-kya-hai

d) H1, H2, H3 Headings

सही heading tags का उपयोग करना भी SEO का एक महत्वपूर्ण पहलू है.

एक पोस्ट के अंदर सिर्फ एक H1 tag हो सकता है और default रूप से, post title H1 heading tag का उपयोग करता है.

तो अगली sub-heading के लिए, आप H2 tag का उपयोग कर सकते हैं, और फिर H3, H4 tag.

खासकर जब आप एक long post लिख रहे हैं तो उसमें proper heading tag का इस्तेमाल करने से search engine और users के लिए पढ़ने में आसान रहता है.

बेहतर SEO practice के लिए H1, H2 headings में अपने main keyword को जरूर इस्तेमाल करें.

e) Image Alt Tag

Images, infographics एक ब्लॉग पोस्ट की गुणवत्ता को बढ़ाने और बेहतर user experience के लिए मदद करते हैं.

Search engine crawler images को नहीं देख सकते हैं. Image alt text एक इमेज का संक्षिप्त विवरण है. crawler इस text के जरिए content से संबंधित प्रासंगिक छवि है पता करते हैं.

अपनी पोस्ट के इमेज को SEO friendly बनाने के लिए उसमें proper image names और alt text के अंदर keyword का इस्तेमाल जरूर करें.

f) Internal & External Linking

नई पोस्ट लिखते समय, हमेशा पुराने ब्लॉग पोस्ट को link करने से पाठक आपकी साइट पर अधिक समय बिताते हैं. यह आपकी साइट की बेहतर navigation और bounce rate को कम करने में मदद करता है.

  • Internal links: यह ऐसे links होते हैं जो उस वेबसाइट के अन्य page पर जाते हैं.
  • External links: ऐसे links हैं जो किसी outside वेबसाइट पर जाते हैं.

Internal link करते वक्त anchor text का इस्तेमाल करें. Anchor text के अंदर उस पोस्ट से relevant keyword का इस्तेमाल कर सकते हैं.

External links का उपयोग पाठक को अधिक प्रासंगिक जानकारी देने के लिए किया जाता है. हमेशा उस विषय पर high authority के साथ trusted वेबसाइटों से link करना आवश्यक है.

g) Keyword Placement

अपने पोस्ट को main keyword के साथ-साथ अन्य keywords पर rank करने के लिए Keyword placement बेहद जरूरी है.

Keyword का इस्तेमाल कहां कहां करें?

पोस्ट Title, first paragraph (within 1st 100 words), first H2 Heading, Conclusion में, Image alt text, permalink.

साथ ही पूरे post के अंदर LSI keywords का इस्तेमाल subheading और paragraph के अंदर जरूर करें.

इस पोस्ट के जरिए Keyword placement के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करें.


Post a Comment

0 Comments

Language Translate